उत्सव@लालकिल्ला: भारत के 74 वे गणतंत्र दिन पर स्वदेशी हथियारों की झांकी, दुनिया देखेगी ब्रह्मोस मिसाइल

Desh

अटल समाचार,डेस्क 

देश आज 74वां गणतंत्र दिवस मना रहा है. 26 जनवरी का दिन भारत के लिए बेहद खास है. इसी दिन भारत का संविधान लागू हुआ था. आज इस खास दिन में भारतीय सेना कर्तव्य पथ से पूरी दुनिया को अपनी ताकत दिखाने के लिए पूरी तरह से तैयार है. परेड के दौरान 'स्वदेशी' का संदेश देते हुए मेड इन इंडिया हथियारों पर अहम फोकस होगा. 21 बंदूकों की सलामी भी भारत में बनी 105 एमएम की इंडियन फील्ड गन्स से दी जाएगी. 

जाहेरात
जाहेरात (જાહેરાત)

भारतीय सेना जिन हथियारों का प्रदर्शन करेगी उनमें भारत निर्मित ब्रह्मोस मिसाइल सिस्टम और आकाश आर्मी लॉन्चर भी शामिल हैं. इसके अलावा नाग मिसाइल सिस्टम, K9 वज्र आर्टिलरी गन, अर्जुन मार्क 1 टैंक, BMP-2 सारथ, शॉर्ट स्पैन ब्रिज सिस्टम, मोबाइल सेक्युरिटी सिस्टम और क्विक एक्शन टीम व्हीकल भी अपनी ताकत दुनिया के सामने दिखाएंगे. यह पहला मौका होगा जब देश के दुश्मनों से निपटने वाले गरुड़ कमाडों परेड का हिस्सा बनेंगे.

H
जाहेरात (જાહેરાત)

दिल्ली क्षेत्र के चीफ ऑफ स्टाफ मेजर जनरल भावनीश कुमार ने बताया था कि सेना के फ्लाई पास्ट में दो स्वदेशी ध्रुव उन्नत हल्के हेलीकॉप्टर (ALH) और दो रुद्र हेलिकॉप्टर शामिल होंगे. परेड में 61 कैवलरी, नौ मशीनीकृत कॉलम, छह मार्चिंग दल, तीन परमवीर चक्र और तीन अशोक चक्र पुरस्कार विजेता शामिल होंगे. 

हर तरह से खास होगी परेड 

दिल्ली पुलिस के मुताबिक आज 65 हजार से ज्यादा लोग परेड देखेंगे. इन हजारों लोगों को आज अपने देश में बने हथियारों की ताकत सामने से देखने का बेहतरीन अवसर मिलेगा. कुल 23 झांकियां परेड का हिस्सा होंगी, जोकि भारत की जीवंत सांस्कृतिक विरासत, आर्थिक और सामाजिक प्रगति को दर्शाएंगी. इस बार परेड हर तरह से खास होने वाली है.